pH क्या हैं? पीएच मान के बारे में पूरी जानकारी

आज के पोस्ट में PH Kya Hai, pH स्केल के बारे में बात करेगे यह chemistry का यैसा पार्ट है जो बहुत महत्वपूर्ण है pH मान (pH Value) को लेकर प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते है। किसी भी solution या पदार्थ में अम्ल और क्षार की प्रबलता कितनी है इसे पता लगाने के लिए PH Scale का प्रयोग किया जाता है इस scale पर 1 से लेकर 14 तक अंक दिया रहता है इसमें 7 जो होता है वह पानी का pH मान होता है जिसे उदासीन (Neutral) होता है 7 से कम मान को अम्लीय तथा 7 से अधिक मान को क्षारीय कहते है।

pH मान क्या है ( What is pH Value in Hindi)?

pH Scale की खोज सबसे पहले 1909 में S.P.L. सॉरेन्सन ने किया था। किसी विलयन में उपस्थित हाइड्रोजन आयन की सांद्रता ज्ञात करने के लिए एक Scale की खोज की गई जिसे pH स्केल कहते है। इस pH scale में p सूचक है जिसका अर्थ है पुसान्स (Potenz) यह जर्मन शब्द है जिसका अर्थ है शक्ति और H का अर्थ है हाइड्रोजन। इस pH scale में शून्य (अधिक अम्लता) से चौदह (अधिक क्षारीय) तक pH मान ज्ञात कर सकते है। किसी विलयन की अम्लीयता और क्षारीयता उसके हाइड्रोजन आयन की सांद्रता पर निर्भर करती है। pH Scale में बीच की वैल्यू यानी 7 को उदासीन (Neutral) माना जाता है, जल का pH मान 7 होता है। यदि pH स्केल में किसी विलयन का मान 7 से कम है तो वह विलयन अम्लीय होगा तथा यदि किसी विलयन का मान 7 से अधिक है तो विलयन क्षारीय होगा।
जिस तरह से किसी चीज को नापने के लिए एक पैमाने का प्रयोग किया जाता है उसी तरह विलयन(Solution) को नापने के लिए pH Scale का प्रयोग किया जाता है।
हम यहाँ पर बताते है कि किसी विलयन की अम्लीयता और क्षारीयता को pH स्केल पर कैसे नापा जाता है।
अम्लीय विलयन :- यदि pH मान 7 से 0 की तरफ कम हो रहा है तो इसका अर्थ है H+ (हाइड्रोजन) आयन की सांद्रता में बृद्धि हो रही है अर्थात अम्ल की शक्ति बढ़ रही है। pH मान जितना शून्य के पास में होगा विलयन (अम्ल- Acid) उतना ही खट्टा होगा। अम्ल (Acid) का स्वाद खट्टा होता है pH स्केल पर 0 के पास वाले विलयन सबसे ज्यादा खट्टे होते है।
क्षारीय विलयन :- यदि pH मान 7 से 14 की तरफ बढ़ रहा है तो इसका अर्थ है विलयन में OH- (हाइड्रॉक्साइड आयनों) सांद्रता में वृद्धि हो रही है अर्थात क्षार की शक्ति बढ़ रही है, यहाँ पर OH- की सांद्रता में वृद्धि का अर्थ है H+ (हाइड्रोजन) आयन में कमी। क्षार (Base) का स्वाद कड़वा या कसैला होता है, pH स्केल पर 14 के पास वाले विलयन सबसे ज्यादा कड़वे होते है।

pH मान का शरीर पर प्रभाव

H अर्थात ‘ पोटेंशियल हाइड्रोजन ’ या  ‘ हाइड्रोजन की क्षमता ‘ । यह एक विशेष सोलुशन (खून की तरह ) में हाइड्रोजन आयन  को कहा जाता है। यह पीएच अंक  जितना कम होगा, शरीर उतना ही एसिडिक होगा । इसके विपरीत, पीएच अंक जितना  अधिक होगा , शरीर उतना ही एल्कलाइन होगा । उदहारण के तौर पर, 3 का pH 5 के PH से ज़्यादा एसिडिक है एवं 9 का  pH 6 के PH से ज़्यादा एल्कलाइन होगा । एक एसिडिक  स्थिति सेलुलर स्तर पर ऑक्सीजन की कमी का कारण बनती है । जब पीएच का स्तर 7.4 से  नीचे गिर जाता है तो शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है । रक्त सबसे ज़्यादा  ऑक्सीजन का संचार 7.4 के PH(एल्कलाइन) पर करता है । पर्याप्त ऑक्सीजन की कमी  से बैक्टीरिया ,वायरस एवं फफूंद का प्रकोप बढ़ जाता है ।

तो हम जानते है कि कुछ प्रमुख pH Values के बारे में जो UPSC, State PCS, SSC, CDS, SI , Railway and other  परीक्षाओ में अक्सर पूछे जाते है।



प्रमुख pH मान (Importance PH values)

1.जल का  pH मान कितना होता है = 7

2 . दूध का PH मान कितना होता है  = 6.4

3.सिरके  का PH कितना होता है = 3

4.मानव रक्त का pH मान  = 7.4

5. नीबू  के रस का pH मान = 2.4

6 . NaCl का pH मान = 7

7. pH पैमाने का पता किसने लगाया  = सारेन्सन ने

8. pH मूल्यांक क्या दर्शाता = किसी घोल का अम्लीय  या क्षारीय होना

9. अम्लीय घोल का pH मान कितना होता है = 7 से कम

10. उदासिन घोल का pH मान = 7

11. शराब का pH मान = 2.8

12. किसी व्यक्ति के रक्त के pH मान में कितना परिवर्तन होने पर मत्यु हो जाती है = 0.2

13. मानव मूत्र का pH मान = 4.8 - 8.4

14. समुद्री जल का pH मान = 8.5

15.आँसू का pH मान = 7.4

16. मानव लार का pH मान = 6.5 - 7.5



दोस्तों मैं आशा करता हु आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा, आप इसे शेयर जरूर करे ।
Share this Post:

No comments