वर्तमान भारतीय संविधान में कुल कितने अनुच्छेद, भाग व अनुसूचियां है

 हमारा प्यारा भारत देश 15 अगस्त 1947 को स्वतन्रत हुआ था | स्वतंत्रता के बाद संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को भारत का संविधान बन कर  तैयार हुआ | 26  नवम्बर को संविधान दिवस के रूप में मनाते है | और पूर्ण रूप से 26 जनवरी 1950 को भारत का संवधन लागु हुआ था | 26 जनवरी 1950 के दिन भारत एक लोकतान्त्रिक और गणतंत्र देश बन गया | 

current indian constitution articles

बहुत के मन में यह confusion रहता है की भारत के मूल संविधान में कितने अनुच्छेद, अनुसूचियाँ और भाग हैं उसके साथ वर्तमान संविधान में कुल कितनी अनुसूचियां, वर्तमान संविधान में कितना भाग है? और अनुच्छेद है। इस पोस्ट में इसी की जानकारी शेयर कर रहा हूं। 

भारत का मूल संविधान 

भारतीय संविधान को बनाने में 2  साल 11 महीना 18  दिन लगे |  संविधान की मूल कॉपी को हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओ  में हस्तलिखित  है  | भारत के संविधान को प्रेम बिहारी  रायजादा ने लिखा था | संविधान जब बन कर तैयार हुआ उस समय मूल संविधान में 395  अनुच्छेद  22 भाग और 8 अनुसूचियाँ थी | 

भारतीय संविधान दुनिया के किसी भी देश का सबसे लम्बा लिखित संविधान है | संविधान के अंग्रेजी संस्करण में 146385 शब्दों का प्रयोग है |  जबकि शब्दों के लिखित आधार पर मोनाको का संविधान सबसे छोटा लिखित संविधान है | जिसमे 4543 शब्दों का प्रयोग है। 

Related Post: महत्वपूर्ण संसदीय शब्दावली

वर्तमान  भारतीय  संविधान में कुल कितने अनुच्छेद है

जब से संविधान बना है उसके बाद से समय के साथ आवश्यकता अनुसार कई बार संशोधन किये गए है। 

भारत के वर्तमान संविधान में कुल 470 अनुच्छेद ,  25 भाग और 12  अनुसूचियाँ है। 

नौवीं अनुसूची:  इसको प्रथम संविधान संसोधन 1951 के द्वारा जोड़ी गई। 

दसवीं अनुसूची: इसको 52वें संविधान संसोधन 1985 में जोड़ी गई है, इसमें दल बदल से सम्बन्धित प्रावधाओं का उल्लेख है। 

ग्यारहवीं अनुसूची: इसको 73वें संविधान संसोधन 1993 में जोड़ी गई।

बारहवीं अनुसूची: इसको 74वें संविधान संसोधन 1993 में जोड़ी गई। 

Also Read: Indian Constitution Notes PDF

भारत का संविधान देश की आजादी के 74 वर्षो के बाद भी निरंतर विकसित होता रहा है और जिवंत दस्तावेज की तरह अपना अस्तित्व बनाये हुआ है। 


Share this Post:

No comments